मध्यप्रदेश के मंदसौर में पुलिस की गोलीबारी में हुई किसानों की मौत के बाद भाजपा के खिलाफ किसानों का आक्रोश चरम पर है. इसी आक्रोश को खत्म करने के लिए जपा द्वारा गांवों में किसान संदेश यात्रा निकाली जा रही है. किंतु इस दौरान पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है.

ताजा मामला जयसिंगपुरा व राबडिय़ा गांव का है. जहाँ दोपहर में जयसिंगपुरा में गांव में भ्रमण के दौरान किसानों ने विधायक को रोक दिया. यहां विवाद के बाद नेता यात्रा लेकर वापस लौट गए. शाम को राबडिय़ा पहुंचे तो यहां ग्रामीणों ने विधायक सहित अन्य नेताओं को गांव में नहीं घुसने दिया. भाजपा हाय-हाय के नारे लगाए. 15 मिनट बाद भी आक्रोश कम नहीं हुआ तो यहां से यात्रा वापस लेकर आना पड़ी.

और पढ़े -   पंजाब: एक बार फिर से कुरान की बेअदबी, पुलिस को मिला 24 घंटे का अल्टीमेटम

विधायक दिलीपसिंह परिहार, जिला महामंत्री वीरेंद्र पाटीदार, नपाध्यक्ष राकेश जैन, मेहर सिंह जाट सहित कार्यकर्ता किसान संदेश यात्रा लेकर राबडिय़ा पहुंचे. इसकी सूचना मिलते ही गांव के लोगों ने रास्ता रोक दिया. नेताओं के पहुंचते ही भाजपा हाय-हाय के नारे लगाना शुरू कर दिए.

विधायक ने ग्रामीण व किसानों से बात करने की कोशिश की लेकिन किसी ने भी इनकी बात नहीं सुनी. किसान आंदोलन के दौरान पुलिस फायरिंग तथा लाठीचार से ग्रामीण नाराज थे. विरोध बढ़ता देख विधायक सहित अन्य नेता यात्रा वापस लेकर आ गए.

और पढ़े -   मराठवाड़ा में रोज दो से तीन किसान कर रहे आत्महत्या: सरकारी रिपोर्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE