मध्य प्रदेश के मंदसौर में उठा किसान आंदोलन गोलीबारी के बाद उग्र हो चूका है. कर्ज माफी और फसल के वाजिब दाम की मांग कर रहे किसान अब किसी की भी सुनने को तैयार नहीं है. खबर है कि किसानों ने मंदसौर कलेक्टर स्वत्रंत कुमार सिंह के साथ मारपीट की.

दरअसल, स्वत्रंत कुमार सिंह भानपुरा के बरखेडा में जाम खुलवाने पहुंचे थे. किसानों ने गोलीबारी में मारे गए किसानों के शव रखकर चक्काजाम कर दिया था. जब कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह उन्हें समझाने पहुंचे तो परिजनों ने उनके साथ मारपीट की और एक किमी तक उन्हें दौड़ाया.

और पढ़े -   बिहार में बाढ़ बरपा रही कहर- अब तक गई 106 लोगों की जान, बढ़ सकता है आंकड़ा

वहीँ बीजेपी अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और मंत्री गौरीशंकर बिसेन को भी मंदसौर सीमा से विरोध के चलते वापस लोटना पढ़ गया है. वहीँ कांग्रेस नेता और पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन किसानों के अंतिम संस्कार में शामिल होने मंदसौर जा रही थीं, लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया.

पुलिस फायरिंग में किसानों की मौत के बाद मंदसौर, पिपलियामंडी, नाहरगढ़ और मल्हारगढ़ में कर्फ्यू लगा दिया गया है. इसके साथ ही मंदसौर, नीमच और रतलाम में मोबाइल पर इंटरनेट सेवा भी बंद रखी गई है.

और पढ़े -   बिहार: गौरक्षकों ने पहले मुस्लिमों की पिटाई, फिर भी पीड़ितों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE