किसान महापंचायत ने रविवार को किसानों की कर्ज माफी की मांग को लेकर बंद का आह्वान किया. जिसमे करीब 45 हजार गांव बंद में हिस्सा लिया.

राजधानी जयपुर में किसान महापंचायत का गांधी सर्किल पर धरने का कार्यक्रम था, लेकिन पुलिस प्रशासन ने धरने की अनुमति नहीं दी. बिना अनुमति के भी किसान सर्किल पर धरने के लिए अड़ गए, नहीं मानने पर बाद में पुलिस ने किसानों को गिरफ्तार कर लिया.

और पढ़े -   अदालत ने बढ़ती असहिष्णुता पर जताई चिंता, कहा - रोक लगाने की है सख्त जरुरत

इस दौरान रामपाल जाट और पूर्व स्पीकर सुमित्रा संंघ ने भी गिरफ्तारी दी. जाट ने बताया कि सरकार को किसानों की समस्याओं से कोई मतलब नहीं है, लेकिन किसान महापंचायत जब तक किसानों का कर्ज माफ नहीं कर देगी, आंदोलन जारी रहेगी.

इस दौरान डेयरियों में दूध तथा बाजार में सब्जी की सप्लाई भी बंद कर दी गई. प्रदर्शन में कड़ों किसान सहित महिलाएं मौजूद रही.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने दी हजारों चकमा और हजोंग शरणार्थियों को नागरिकता, जल उठा अरुणाचल प्रदेश

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE