मुंबई: महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले के वरवंड कस्बे में 65 साल की महिला ने खेत में कीटनाशक पीकर और साथ ही उसके 30 वर्षीय बेटे ने खेत के कुएं में कूदकर जान दे दी। सुसाइड नोट में मंगेश जाधव ने आत्महत्या की वजह सूखे से फसल की बर्बादी और 4 लाख का कर्ज बताया हैं। सुसाइड नोट में जाधव ने अपनी पत्नी से माफ़ी मांगते हुवे लिखा कि ‘हमारे दोनों बच्चों का ध्यान रखना। मुझे इस दुनिया को छोड़ने के लिए माफ कर देना। अपना ख्याल रखना।’

और पढ़े -   राष्ट्रगान ना गाने पर योगी सरकार करेगी मदरसों पर एनएसए के तहत कार्रवाई

30 साल के मंगेश ने 3 एकड़ खेत में फसल बोई थी, लेकिन सूखे ने पूरी फसल बर्बाद कर दी। उनके एक रिश्तेदार प्रमोद जौघले ने बताया कि मंगेश को बच्चों की फिक्र रहती थी, मां के बारे में बात करता था, कहता था उसके जाने के बाद उनका क्या होगा। बैंक के कर्ज से परेशान था इसलिए उसने आत्महत्या कर ली।

और पढ़े -   एक लाख से ज्यादा डिलेवरी करवाने वाली 'डॉक्टर दादी' का हुआ निधन

इंस्पेक्टर अविनाश भामरे ने बताया, “खेत में आम के पेड़ के पास मां ने कोई ज़हर पी लिया था, जबकि बेटे ने कुछ दूरी पर बने कुएं में कूदकर जान दे दी। हमें एक पर्ची मिली, जिसमें बैंक के कर्ज का जिक्र था।”


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE