ट्रिब्यून की तहकीकात ने हरियाणा पुलिस के उस झूठ का पर्दाफाश कर दिया है, जिसमें उसने ‘हाईवे पर आतंक’ की उस बात को सिरे से नकार दिया था, जिसमें कई महिलाओं को गुंडों द्वारा जाट आंदोलन की आड़ में घसीटा गया, बेईज्जत किया गया और उनका रेप किया गया।

Haryana Police

पुलिस जिसे ‘झूठा’ बता रही है, उसी का कड़ा प्रतिरोध करते हुए कुछ डरे-सहमे स्थानीय निवासी सामने आने शुरू हो गये हैं, जिन्होंने गत 22 फरवरी की रात को लाठियों और हथियारों से लैस गुंडों द्वारा नेशनल हाईवे पर मचाई गयी हिंसा व गुंडागर्दी के दर्दनाक मंजर को अपनी आंखों से देखा और सुना भी।

ट्रिब्यून की जांच में यह भी सामने आया कि हरियाणा में सत्ताधारी भाजपा सरकार पुलिस द्वारा चश्मदीदों पर दबाव बना रही है, उन्हें चुप रहने और उत्पात को लेकर दिये गये अपने पूर्व बयान पीछे हटने के लिये मजबूर किया जा रहा है। कई प्रत्यक्षदर्शियों की आंखों ने देखी हैं दर्द की वे खौफनाक वारदातें। इन मामलों में ड्यूटी में कोताही भी उजागर हुई है। चश्मदीदों की सुरक्षा के मद्देनजर उनकी पहचान छुपाई जा रही है, लेकिन ट्रिब्यून के पास अपनी रिपोर्ट की पुष्टि के सभी सबूत मौजूद हैं, जो जरूरत पड़ने पर स्वतंत्र जांच एजेंसी के सम्मुख पेश किये जा सकते हैं।

और पढ़े -   काशी से काबा के लिए हाजियों का पहला जत्‍था हुआ मुकद्दस सफर पर रवाना

मुरथल के निकट दिल्ली के एक व्यापारी ने बताया,’ एनएच-1 पर उसके जानकार के पड़ोसी की बीएमडब्ल्यू कार उपद्रवियों द्वारा फूंक दी गयी तथा उसके परिवार की तीन महिलाओं का अपहरण कर लिया गया। छोड़े जाने के 7 घंटे बाद जब वह वापस लौटीं तो उनके कपड़े फटे हुए थे।’

एक दूसरा बुजुर्ग बोला, उनसे दुष्कर्म किया गया था। मुरथल के निकट ढाबा चलाने वाले एक अन्य व्यक्ति ने भी ऐसे ही एक खौफनाक किस्से को बयां किया। उसके ढाबे के पास से चार महिलाओं का अपहरण किया गया, जबकि एक अन्य को बड़ी गांव के पास से उठाया गया। एक युवक ने बताया कि उसे डरे हुए कुछ पुलिस कर्मियों ने 5 महिलाओं के अगवा होने के बारे में बताया था। उनका बताया कि लेकिन वे उन बेसहारा महिलाओं की कोई मदद भी नहीं कर पाये क्योंकि उनके वरिष्ठ एसएचओ तथा डीएसपी ने ढाबे के पीछे खुद को छुपा रखा था।

और पढ़े -   कांग्रेस विधायक की चुनौती: बीजेपी के लोग केवल 15-15 आवारा गायें पालकर दिखाए

उसने कहा कि कई अन्य स्थानों से भी लड़कियोें और महिलाओं को अगवा करने के किस्से सुने जा रहे हैं। ऐसी ही रिपोर्टों की पुष्टि हरियाणा न्यूज और इंडिया न्यूज हरियाणा के टेलीविजन चैनल भी कर रहे हैं, जिससे हरियाणा सरकार बेनकाब हो रहा है।

मुरथल के पास जीटी रोड के 5 किलोमीटर की बैल्ट में वीभत्स घटना को याद करते हुए लोग कहते हैं कि लूट और बर्बरता की घटना अनियंत्रित थी, लेकिन लुटेरों द्वारा किये गये इस अमानवीय कृत्य को बताते हुए उन्हें बहुत पीड़ा हो रही है। नाम गुप्त रखने के वादे के साथ एक ने बताया कि एक युवती अपने पति के साथ फंस गयी थी। उसके साथ बलात्कार हुआ। एक अन्य व्यक्ति ने खुलासा किया कि बदमाशों ने लोगों को उनके गंतव्य तक जाने के लिए वे निर्जन रास्ते बताये। (hindkhabar)

और पढ़े -   अध्यापकों ने पहले मुस्लिम छात्र की दाढ़ी-मूंछ काटी, फिर स्कूल में ही बनाया बंधक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE