khalist

पटियाला की नाभा जेल से फरार छह कैदी रविवार सुबह नाभा जेल से फरार हो गये. इनमे खालिस्तान लिबरेशन फ्रंट के प्रमुख हरमिंदर मिंटू भी शामिल हैं. पुलिस का आरोप हैं कि 10 लोग पुलिस की वर्दी में जेल में घुसकर गुरप्रीत सिंह, विक्की सिंह गंडोरा, नितिन देओल और विक्रमजीत सिंह विक्की को भगा कर ले गये. इस दौरान 100 राउंड फायर से अधिक फायर भी किये गये.

इसी बीच फरार कैदियों में से एक कुलप्रीत सिंह उर्फ नीता ने फेसबुक पर एक पोस्ट कर पंजाब पुलिस पर गंभीर आरोप लगाया हैं. नीता ने फेसबुक पर लिखा कि पंजाब पुलिस कथित रूप से भोपाल एनकाउंटर की तरह ही उनका भी एनकाउंटर करना चाहती है.

फेसबुक पोस्ट में लिखा गया कि पुलिस भोपाल एनकाउंटर की तर्ज पर ड्रामा कर रही है. इन लड़कों के भागने की कोई वजह नहीं दिख रही है. इनके केस में कोई सबूत नहीं है. 1-2 साल में बरी हो जाते. यह कोई चुनावी स्टंट भी हो सकता है. हमें हमारे लड़के सही सलामत वापस दे दो.

पोस्ट में आगे कहा गया कि पुलिस किसी पर भी फर्जी केस कर सकती है. पहले भी मेरे भाई और मेरे पिता पर झूठा केस किया था।. हमारे पास सबूत हैं. पुलिस की चाल है, ऐसे लड़के नहीं भाग सकते. पुलिस ड्रामा कर रही है. किसी भी लड़के को कुछ भी हुआ तो पुलिस का कसूर होगा. इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें.’

पुलिस का इस बारें में कहना है कि हो सकता है कि नीता के अकाउंट से यह पोस्ट फेसुबक पर उसके भाई ने अपडेट किया हो. इस घटना के बाद पंजाब सरकार ने महानिदेशक (जेल) को निलंबित कर दिया हैं. वहीं ADGP के तहत एक टीम बनाई गई है. साथ ही पंजाब सरकार ने फरार कैदियों का सुराग देने वालों को 25 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें