जमशेदपुर के पोखरिया गांव से मुलसमानों को पलायन और सामजिक बहिष्कार के चलते मस्जिदों में शरण लेने को मजबूर होना पड़ रहा है.

दरअसल कुछ दिनों पहले हुए साम्प्रदायिक तनाव का चलते गाँव के मुस्लिमों को निशाना बनाया गया था. जिसके बाद से ही मुसलमानों ने गाँव छोड़ना शुरू कर दिया था. गाँव की बहुसंख्यक समाज आबादी ने भी मुस्लिमों के खिलाफ सामजिक बहिष्कार छेड़ रखा है. जिसके चलते भी मुसलमान गाँव को छोड़ने को मजबूर हो रहे है.

और पढ़े -   बड़ा खुलासा - बीजेपी नेता करता था अधिकारियों को स्कूली छात्राओं की सप्लाई

मुस्लिमों को धमकी दी जा रही है कि जब तक मुकदमा वापस नहीं होगा तब तक सभी लोगों का हुक्का पानी बंद रहेगा. जिसके चलते शब-ए-बरात के दिन ही दहशत और तमाम परेशानियों के बीच यहाँ के 10 मुस्लिम परिवार ने गाँव से पलायन किया. वहीँ शुक्रवार को और दो परिवार ने भी गाँव छोड़ दिया.

इस मामले में पूर्वा सिंहभूम के एसएसपी अनूपटी मैथ्यू ने कहा कि पोखरिया गांव में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. जो लोग गांव छोड़ कर गए हैं, उनके रहने का इंतजाम किया जाएगा. न्यायसंगत कार्रवाई होगी.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों के समर्थन में लिखा, बीजेपी ने दिखाया मुस्लिम नेता को बाहर का रास्ता

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE