बिहार के औरंगाबाद जिले स्वच्छ भारत अभियान जोरो शोरो पर है. जिलाधिकारी कंवल तनुज शौचालय बनाने के लिए ग्रामीणों से अपनी पत्नियों को बेचने को कह रहे है हालांकि उनके इस फरमान से सभी हैरान है.

दरअसल, एक कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के समक्ष शौचालय न बना पाने के लिए आर्थिक मज़बूरी का हवाला दिया. जिसके जवाब में जिलाधिकारी ने कहा अगर आपके पास पैसा नहीं है तो अपनी पत्नी को बेच दीजिए और शौचालय बनवा लीजिए.

और पढ़े -   योगी सरकार का मदरसों को नया आदेश - छात्रों और अध्यापकों का कराना होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

उन्होंने आगे कहा कि लोग अडवांस पैसे की बात करते हैं, लेकिन इंदिरा आवास के तहत जो पैसा दिया गया, कई लोगों ने उन पैसों से बेटी की शादी कर ली और दूसरे चीजों में खर्च कर दिया. अगर आपके पास पैसा नहीं है तो अपनी बीवी को बेच दीजिए.

जिलाधिकारी ने कहा, ‘यहां कौन गरीब है जो कहेगा कि उसकी बीवी की इज्जत 12,000 रुपये से सस्ती है।. कोई ऐसा नहीं होगा जो बोलेगा कि मेरी बीवी की इज्जत ले लो और 12,000 दे दो. अगर आपकी यही मानसिकता है तो बेच दीजिए अपने घर की इज्जत और कह दीजिए सरकार को कि नहीं बना सकते शौचालय.

और पढ़े -   खतौली रेल हादसें में 8 अधिकारियों पर कार्रवाई, जांच में सामने आई खुलकर लापरवाही

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE