धार में भोजशाला में पूजा और नमाज को लेकर भारी तनाव बना हुआ है. हिंदू संगठन दिनभर पूजा की बात पर अड़े हुए है, जबकि मुस्लिम समाज तय वक्त पर नमाज पढ़ना चाहता हैं. इस पर सहमति नहीं बनने से भोज उत्सव समिति के सदस्यों ने नाराज होकर भोजशाला के बाहर हवन-पूजन शुरू कर दी है.

धार में वसंतः पूजा की नहीं मिली अनुमति, भोजशाला के बाहर शुरू किया हवन

भोज उत्सव समिति के सदस्यों ने शुक्रवार सुबह पूजन सामग्री लेकर भोजशाला परिसर में प्रवेश किया था. भोजशाला में सूर्योदय से सूर्यास्त तक लगातार पूजा करने की बात पर प्रशासन और समिति के सदस्यों के बीच सहमति नहीं बनी है.

और पढ़े -   गुजरात: गरबा देखने गए युवक की वीडियो बनाने के आरोप में पीट-पीट कर हत्या

इसके बाद भोज उत्सव समिति के सदस्यों ने पूजा और हवन से इनकार कर दिया. समिति के तमाम सदस्य पूजन और हवन सामग्री लेकर बाहर आ गए है. अब दिनभर भोजशाला के बाहर ही पूजा और हवन का आयोजन किया जाएगा.

dhar02

इस बीच धार में शुक्रवार तड़के से ही हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं का भोजशाला पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है. आसपास के जिलों से बड़ी संख्या में लोगों के आने से प्रशासन और पुलिस की चिंता बढ़ती जा रही है.

और पढ़े -   बिहार: उद्घाटन के दिन करोड़ों में बना बांध टूटा, तेजस्वी बोले - बांध भी चूहे कुतर गए क्या?

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने 12 फरवरी के लिए दिए आदेश में सूर्योदय से दोपहर 12 बजे तक और फिर दोपहर साढ़े तीन बजे से सूर्यास्त तक पूजा की अनुमति दी गई थी. वहीं, दोपहर एक बजे से तीन बजे तक का वक्त नमाज के लिए तय किया गया था.

dhar03

राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन इसी आदेश के तहत पूजा और नमाज कराने की तैयारी कर रहा है. सरकार का दावा है कि भोजशाला में पूजा और नमाज दोनों की व्यवस्था की जाएगी.

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

विवाद की आशंका के चलते पहली बार धार में 9 हजार जवानों को तैनात किया गया है. सुरक्षाबलों की 26 कंपनियों से बुलाए गए जवान शहर की हर गली-मोहल्ले में मुस्तैद हैं. इनके अलावा 12 आईपीएस, 25 डीएसपी, 135 टीआई, 600 एसआई भी दल-बल के साथ स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.

dhar01

भोजशाला परिसर में 25 हाई डेफिनेशन कैमरे लगाए गए हैं. जो कि पूरे भोजशाला परिसर को कवर कर रहे हैं और लगातार डिस्प्ले पर 24 घंटे चौकसी की जा रही है. (pradesh18)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE