02

आगरा। जुमा अलविदा की नमाज के बाद पाय चौकी में कटरा दबकय्यान स्थित मस्जिद में सलाम पढ़ने के तरीके को लेकर बरेलवी और देवबंदी आमने-सामने आ गए। मस्जिद के बाहर दोनों पक्षों में मारपीट और पथराव हो गया। बड़ी संख्या में फोर्स पहुंच गई। कोतवाली इंस्पेक्टर ने बताया कि दोनों पक्षों में समझौता हुआ है कि मस्जिद में न तो सलाम पढ़ा जाएगा और न ही कोई व्यक्ति जमात को लेकर आएगा।
 
मस्जिद के मुतवल्ली चौधरी मुख्त्यार खां हैं। उनके भाई सरफराज मस्जिद में देखरेख का काम करते हैं। वे दोनों बरेलवी से, जबकि मोहल्ले के ही कामरान, आदिल पक्ष देवबंदी से ताल्लुक रखते हैं।
 
अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को मस्जिद में जुमा अलविदा की नमाज के बाद बरेलवी से ताल्लुक रखने वाले कुछ लोगों ने सलाम पढ़ा। इस बात का कामरान पक्ष ने विरोध किया।
 
उनका कहना था कि तेज आवाज में सलाम नहीं पढ़ना चाहिए। इस पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। मारपीट होने लगी। वे झगड़ते हुए पाय चौकी पर आ गए। यहां भी विवाद नहीं थमा। सूचना पर सीओ कोतवाली मनीषा सिंह कई थानों की फोर्स के साथ पहुंची। उन्होंने लोगों को शांत किया और सभी को थाने पर बुलाया। फव्वारा में थाने के पास देवबंदी और बरेलवी पक्ष में फिर टकराव हो गया। पथराव होने लगा। इससे अफरातफरी मच गई। तब और थानों की फोर्स भी बुला ली गई।
 
दोनों पक्षों के पांच-पांच लोगों को कोतवाली ले जाया गया। समाजसेवी समी आगाई, सैय्यद इरफान सलीम आदि पहुंच गए। समी आगाई का कहना है कि मस्जिद में नमाज के बाद तेज आवाज में सलाम पढ़ने को लेकर विवाद हुआ था। उसे आपसी सहमति के बाद खत्म करा दिया गया है।

और पढ़े -   नकली नोट छापते हुए पुलिस ने बीजेपी नेता को किया गिरफ्तार, मशीन भी की बरामद

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE