mamata-banerjee

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार देर रात कोलकाता सहित राज्य में सेना की तैनाती पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि राज्य सरकार की अनुमति के बिना राज्य के विभिन्न हिस्सो में सेना तैनात कर दिया गया. उन्होंने कहा,  केंद्र द्वारा सेना को राजनीतिक बदले के लिए इस्तेमाल किया जा रहा हैं.

ममता ने इसे आपातकाल जैसे हालात बताते हुए राज्य से सेना को हटाए जाने की मांग को लेकर पूरी रात सचिवालय में ही गुजारी.  उन्होंने कहा कि ‘जब देश में इमरजेंसी लगाई जाती है, तो केंद्र सरकार राज्यों की कानून-व्यवस्था को अपने हाथ में ले लेती है. उन्होंने कहा कि आपातकाल की घोषणा राष्ट्रपति करते है, लेकिन ऐसा कुछ हुआ ही नहीं. केंद्र सरकार ने बिना राज्य सरकार के अनुमति के राज्य में सेना तैनात करना चिंता का विषय है.

वहीँ  देर रात सेना ने सफाई देते हुए कहा कि वह पश्चिम बंगाल पुलिस की पूरी जानकारी और समन्वय के साथ नियमित अभ्‍यास कर रही है. सेना की सफाई के बाद भी ममता का गुस्सा थमा नहीं. उन्होंने ईस्टर्न कमांड को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘हमारा आपके प्रति आदर है लेकिन कृपया लोगों को भ्रमित न करें.

उन्होंने आगे कहा, वे (सेना) क्यों यहां खड़े हैं. पुलिस आयुक्त ने उन्हें जाने को कहा, लेकिन वे अब भी यहां खड़े हैं. मैं पूरी स्थिति को करीब से देख रही हूं. मैं अपने लोगों की संरक्षक हूं और जब तक सेना यहां खड़ी है, मैं सचिवालय से नहीं जा सकती.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें