नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की छात्रसंघ उपाध्यक्ष शेहला राशिद को एक बार फिर गालियों से भरा गुमनाम पत्र मिला है। शेहला को इससे पहले ऐसा ही खत उस वक्त मिला था जब उन्होंने योग गुरु रामदेव के जेएनयू दौरे का विरोध किया था।

जेएनयू छात्रसंघ ऑफिस में भेजे गए पत्र में शेहला को देशद्रोह के आरोपियों का समर्थन करने पर देशद्रोही कहा गया है। खत में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी के बारे में भी अशोभनीय बातें लिखी गई हैं। क्योंकि उन्होंने देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के बाद जेएनयू कैंपस का दौरा किया था और छात्रों के पक्ष में भाषण दिया था।

शेहला ने कहा, ऐसा दूसरी बार है जब मुझे ऐसा नफरत भरा खत भेजा गया है। यह सिर्फ जेएनयू की छात्र होने के नाते ही नहीं, बल्कि एक महिला होने के नाते भी मेरा अपमान है। पिछली बार मैंने राष्ट्रीय महिला आयोग से इस बारे में शिकायत की थी, लेकिन एक महीना बीत जाने के बावजूद आयोग की तरफ से मुझे कुछ नहीं बताया गया है। अब इस खत को लेकर मैं दिल्ली महिला आयोग जाऊंगी। उन्होंने यह पत्र अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करते हुए कहा है कि दक्षिणपंथी और कुछ नहीं कर सकते। (Naidunia)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें