दिल्ली सरकार ने एक बार फिर से दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों पर नकेल कसते हुए बड़ा फैसला लिया है, दिल्ली सरकार ने 525 स्कूलों को आदेश जारी किया है कि 15 दिनों के अंदर दिल्ली के अभिभावकों से वसूले गए ज्यादा फीस लौटाएं। जस्टिस अनिल देव सिंह की अध्यक्षता में बनी एक कमेटी ने दिल्ली के 525 स्कूलों की शिनाख्त की है, जिन्होने छठें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने के बहाने अभिभावकों से ज्यादा पैसे वसूले थे।

Delhi school children

इस कमेटी का गठन दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले के बाद किया था, उस समय से अभी तक इस कमेटी ने 9 अंतरिम रिपोर्ट जमा कर दी है जिसे दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों द्वारा लागू कराया जाना है। आठवीं अंतरिम रिपोर्ट जमा होने के बाद दिल्ली सरकार ने 472 स्कूलों को 15 दिनों के भीतर पैसा वापस करने का आदेश दिया था, जबकि पिछले साल दिसंबर में सिर्फ 43 स्कूलों ने इसका पालन किया था।

शिक्षा निदेशालय की तरफ से कहा गया है कि दिल्ली में 525 स्कूलों का शिनाख्त हुआ है जो कि अभिभावकों से ज्यादा फीस वसूल रहे थे, इन स्कूलों को कहा गया है कि 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट का अनुपालन कर अपनी रिपोर्ट जमा करवाएं।

शिक्षा निदेशालय ने जो प्राइवेट स्कूलों के निर्देश जारी किया है उसमें स्कूलों से कहा गया है कि स्कूलों ने जो पैसे अभिभावकों से वसूले है उन्हें 9 प्रतिशत ब्याज के साथ 15 दिनों के भीतर वापस करें, साथ ही आगे से अभिभावक या छात्र से ऐसी उगाही ना करें। (Hind Khabar)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें