मध्य प्रदेश के मंदसौर में 7 जून को पुलिस की मार से घायल हुए किसान के इलाज के दौरान दम तोड़ देने के बाद फिर से आंदोलन उग्र हो गया है. इस बात की खबर मिलते से ही किसानों ने फिर से तोड़फोड़ और आगजनी शुरू कर दी है.

ये किसान हिंसा प्रभावित बडावन गांव का बताया जा रहा है. ग्रामीणों का कहना है कि घनश्याम धाकड़ को मंदिर जाते वक्त कुछ पुलिसवालों ने रोककर डंडों से पिटा था. गंभीर घायल होने की वजह से उसका इलाज इंदौर के एमवाई अस्पताल में चल रहा था. लेकिन अब उसकी मौत हो गई.

और पढ़े -   मथुरा के मंदिर में साध्वी से बलात्कार, पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद

किसान की मौत की खबर के साथ ही मंदसौर के एसपी और जिलाधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से बात की. जिलाधिकारी ने कहा कि मौत के वजह की जांच की जा रही है. इलाके के नाराज ग्रामीणों ने कहा कि पुलिस उन्हें बिना कारण पकड़ कर पीट रही है और गिरफ्तार कर रही है.

मौके पर मौजूद पूर्व कांग्रेसी सांसद मीनाक्षी नटराजन ने कहा कि वह मृतक किसान के परिजनों को मुआवजे के लिये एसपी से मुलाकात करेंगी.

और पढ़े -   योगी राज: केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन का अपहरण करने की कोशिश

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE