cow

गुजरात के उना के बाद अब यूपी के लखनऊ में गौतस्कारी का आरोप लगा कर कथित गौरक्षकों द्वारा दलित समुदाय के दो लोगों के पिटाई करने और धमकाने के बाद दलितों ने लखनऊ और आसपास के शहरों में मरे जानवरों को उठाने से इनकार कर दिया है.

सोमवार को ठेकेदार इलियास ने मामले को लखनऊ नगर निगम के सामने रखते हुए कहा कि विद्यासागर और छोटे नाम के दो दलित व्यक्ति एक मरी गाय को निपटान के लिए ले जा रहे थे. तभी गोरक्षा समिती के कुछ सदस्यों ने कथित रूप से उन्हें पीटा और जान से मारने की धमकी दी थी. इलियास ने आगे कहा कि उन्होंने दोनों को जान से मारने की धमकी दी है.

पीड़ित युवक छोटे के अनुसार उसे अपनी जान का डर है. वह चैन से सो भी नहीं पा रहा है. एक अन्य ठेकेदार दीपक ने कहा कि हम मरे हुए पशुओं को नहीं उठाएंगे. हम अब उन्हें लोगों के सामने ही सड़ने देंगे. उन्होंने कहा कि वे काम तब ही शुरू करेंगे जब हमें सुरक्षा और आईडी कार्ड मिलेंगे. इस बारें में नगर निगम ने कहा है कि वह जल्द ही काम करने वाले लोगों को आईडी कार्ड उपलब्ध कराएगा.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें