देहरादून के जौनसर बावर स्थित पोखरी गांव के सिल्गुर मंदिर में दलितों के साथ राज्य सभा सांसद तरुण विजय के प्रवेश करने पर अब मंदिर को शुद्ध किया जायेगा. मंदिर के अधिकारियों के अनुसार, दलितों द्वारा मंदिर के प्रांगण को अशुद्ध कर दिए जाने के बाद 9 दिन लंबा ‘शुद्धिकरण अनुष्ठान’ होता है।

मंदिर समिति के एक अधिकारी ने कहा, ’36 साल के के बाद सिल्गुर देवता की देव डोली हमारे गांव में आई था जो अब अशुद्ध हो गई है। देवता परेशान है। अब देवताओं को खुश करने के लिए हमें नौ दिवसीय शुद्धि अनुष्ठान से गुजरना होगा’, मंदिर समिति के एक अधिकारी ने कहा। इस बीच, क्षेत्र के अधिकांश दलित अपना घर छोड़ पलायन कर रहे हैं। इन्हें ऊंची जाति के सदस्यों से डर है।

रविवार को दून अस्पताल में भर्ती अपने नेता दौलत कुंवर के पास करीब 100 ग्रामीण पहुंचे और कहा कि वे अपने क्षेत्रों में तब तक नहीं लौटेंगे जब तक उनकी सुरक्षा सुनिश्चित नहीं की जाती है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें