अहमदाबाद: 26 जनवरी के अवसर पर एक दलित सरपंच को तिरंगा फहराने से रोकने के लिए धमकी मिली है। चंदू मकवाना नाम का यह दलित सरपंच मेहसाणा के नोरतल गांव का रहने वाला है। उसे गांव के ठाकूरों से धमकी मिली है कि अगर उसने तिरंगा फहराया तो वो जान से हाथ धो बैठेगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया कि रिपोर्ट के अनुसार इस सरपंच और उसके परिवार पर पहले भी हमले हो चुके हैं। इससे पहले इसपर पतंग उड़ाने को लेकर हमला हुआ था। तिरंगा फहराने को लेकर मिली धमकी पर सरपंच ने पुलिस सुरक्षा की मांग की है।

और पढ़े -   जानिए: चांद खान के बारे में, जो हर साल घर पर लहराते है तिरंगा

चंदू मकवाना ने कहा, ‘मुझे बुरा परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है। ठाकुरों ने मुझे चेताया है कि दलित होने के नाते मैं तिरंगा नहीं फहरा सकता।’ बता दें कि अभी चंदू को केवल 4 ऐसे जवान सुरक्षा में मिले हैं जिनके पास लाठी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पुलिस ने उसे सुरक्षा देने के आदेश दे दिए हैं। साभार: न्यूज़ 24

और पढ़े -   कश्मीर: शहीद उमर फयाज के सम्मान में बदला गया स्कूल का नाम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE