thete

मध्यप्रदेश में आईएएस अफसर रमेश थेटे ने अपने सीनियर अफसरों पर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया हैं. उन्होंने खुद को बाबा साहब का सिपाही और शिवराज सरकार को दलित विरोधी बताया हैं.

रमेश थेटे ने मध्य प्रदेश सरकार के पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के सचिव हैं. उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आला अफसरों की चौकड़ी मुझे सुसाइड करने को मजबूर कर रही है. उन्होंने आगे कहा कि मीडिया के सामने ये मेरी आखिरी वार्ता है. यह पत्रकार वार्ता नहीं केवल सामान्य चर्चा है. मैंने भ्रष्ट अफसरों के नाम लिफाफे में बंद करके रख दिए हैं. मेरी मौत के बाद ही ये लिफाफा खुलेगा.

और पढ़े -   बलात्कार के दौरान पीड़िता ने काटा था पुजारी का लिंग, अब अदालत ने खारिज की जमानत

रमेश थेटे ने ने जल संसाधन विभाग के एसीएस राधेश्याम जुलानिया पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगाए हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि मुझ पर रोहित वेमुला की अत्याचार किया जा रहा है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE