केरल में लड़की के साथ बलात्कार का प्रयास करने वाले स्वामी की अदालत ने जमानत याचिका खारिज कर दी है. याद रहे बलात्कार की कोशिश करते समय पीडिता ने स्वामी का लिंग काट दिया था.

बाल यौन अपराध संरक्षण :पॉक्सो: मामलों की अदालत की न्यायाधीश मिनिमोल टी के ने आरोपी गंगेशनंद तीर्थपद उर्फ हरिस्वामी की जमानत याचिका खारिज कर दी. अदालत ने साथ ही युवती को 26 जून को पेश होने के लिए नोटिस जारी किया ताकि उसकी ब्रैन मैपिंग तथा पॉलीग्राफ टेस्ट करने की मांग को लेकर पुलिस द्वारा दायर याचिका पर उसका बयान दर्ज किया जा सके.

और पढ़े -   डीएम रिपोर्ट में खुलासा - ऑक्सीजन आपूर्ति में भ्रष्टाचार बना बच्चों की मौत का सबब

युवती के बार बार बयान बदलने के बाद पुलिस ने उसकी ब्रेन मैपिंग और पॉलीग्राफ टेस्ट की मांग के लिए अदालत का रूख किया. दरअसल पीडिता ने पहले बयान दिया था कि स्वामी उसके साथ पिछले 6 साल से रेप कर रहा था. जिसके बाद उसने बचने के लिए स्वामी का लिंग काटा था.

हालांकि पुलिस को दिए बयान में हरि स्वामी ने कहा की यह अंग मेरे किसी काम का नही था इसलिए मैंने इसको अपने शरीर से अलग कर दिया.

और पढ़े -   गुजरात: फिर सामने आया ऊना कांड, दलित युवक और महिला की नग्न कर पिटाई

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE