inter caste marriage

मैसूर: काफी दिनों से चर्चित विवाह आखिर संपन्न हो ही गया MBA ग्रेजुएट आशिता तथा शकील अहमद का विवाह रविवार की रात्री में संपन्न हुआ लेकिन मेहमानों से अधिक संख्या में पुलिसवाले इस अवसर पर उपस्थित थे गौरतलब है की विश्व हिन्दू परिषद की तरफ से इस विवाह को लव जिहाद का नाम दिया गया था लेकिन सही समय पर परिवार वालो ने सामने आकर ब्यान दिया था की ये विवाह परिवार की मर्ज़ी से हो रहा है जिसे लेकर दक्षिणपंथी हिन्दू संगठन बेकफूट पर आ गये थे कर्नाटक में वीएचपी सेक्रेट्री बी सुरेश ने कहा- यह लव जिहाद है। अगर यह प्यार है तो हमें कोई आपत्ति नहीं, लेकिन यह मामला जबरदस्ती का लग रहा है।

और पढ़े -   गोरखपुर: अभी जारी है बच्चों की मौत का सिलसिला, दो दिनों में 35 और बच्चों की मौत

love

आशिता के पिता नरेंद्र बाबु ने कहा की भारत में सब समान है ये उन लोगो के लिए सन्देश है जो प्यार को नही समझते जब सब लोग जश्न मना रहे हो और सिर्फ एक फ़ीसदी विरोध करें तो क्या फर्क पड़ता है विरोध कई दिन पहले शुरू हो गया था। पुलिस ने दो विरोध प्रदर्शनकर्ताओं को मांड्या में अरेस्ट किया था। रविवार को हाई सिक्यॉरिटी में शादी हुई। इस जोड़े को सामाजिक कार्यकर्ताओं का अच्छा खासा सहयोग मिला।

और पढ़े -   आज़ादी के 70 साल बाद भी जातिवाद, ऊंच-नीच, भ्रष्टाचार से आज़ादी की ज़रूरत : फैसल लाला

विडियो देखे


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE