घटना के विरोधस्‍वरूप और दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर शाहपुर में लोगों ने प्रदर्शन भी किया।

उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कथित रूप से जाट समुदाय के कुछ लोगों द़वारा एक इमाम काे पीटने की घटना के बाद साम्‍प्रदायिक तनाव का माहौल है। आरोप है कि जाट समुदाय के कुछ लोगों ने बस में सफर कर रहे एक इमाम की पिटाई कर दी। घटना सोमवार शाम की है और मामला दर्ज किया जा चुका है। घटना के विरोधस्‍वरूप और दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर शाहपुर में लोगों ने प्रदर्शन भी किया। जिस बस में पिटाई हुई उसे भी लोगों ने रोक लिया और कंडक्‍टर व ड्राइवर से मारपीट की। उन्‍होंने ड्राइवर व कंडक्‍टर से आरोपियों के बारे में पूछताछ भी की।

पीडि़त नूर मोहम्‍मद ने बताया,’ मैं शामली गया था। वहां से सोमवार दोपहर को मुजफ्फरनगर के लिए बस पकड़ी। जैसे ही बस बाजू गांव के पास पहुंची, कुछ युवकों ने आपत्तिजनक टिप्‍पणिण्‍यां की और गालियां दी। शुरुआत में मैंने ध्‍यान नहीं दिया। बाद में मैंने उन्‍हें टोका। इस पर उन्‍होंने मुझे बुरी तरह से पीटा। वे छह लोग थे।’ उन्‍होंने आगे बताया कि ड्राइवर ने दखल देते हुए युवकों से कहा कि वे ऐसा न करें। इस पर युवक धमकी देते हुए वहां से भाग गए। इसके बाद उन्‍होंने दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों को घटना के बारे में बताया।

बस जब बासीकला गांव पहुंची तो मुसलमानों की भीड़ ने बस को रूकवाया। उन्‍होंने ड्राइवर और कंडक्‍टर से मारपीट की और उनसे आरोपियों के बारे में पूछा। शाहपुर थाने के एसएचओ वेद प्रकाश गिरी ने बताया कि नूर मोहम्‍मद ने मारपीट का पूरा कारण नहीं बताया। छह अज्ञात लाेगों के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया गया है। पीडि़त की मेडिकल जांच भी कराई गई है। मामले को बाबरी थाने में भेज दिया गया है। क्‍योंकि मारपीट का घटनास्‍थल इसी थाने के तहत आता है। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें