तिरुवनंतपुरम। एक युवती को कॉलेज में आने से सिर्फ इसलिए मना कर दिया गया, क्योंकि उसने दूसरे धर्म के लड़के से शादी कर ली। पीड़ित युवती अब मामले को लेकर राज्य महिला आयोग जाने की तैयारी में है। मामला उत्तरी केरल के कोझिकोड़ इलाके का है।

मुस्लिम एजुकेशन सोसायटी वुमन कॉलेज में फर्स्ट ईयर की छात्रा ने अपनी मर्जी से एक मुस्लिम लड़के से विवाह किया। दोनों ने एक फरवरी को कोर्ट में जाकर शादी कर ली। शादी के कुछ दिन बाद जब छात्रा कॉलेज गई तो उसे आने से मना कर दिया गया।

पीड़ित छात्रा ने बताया कि कॉलेज प्रशासन ने बेबुनियाद आरोप लगाते हुए कहा कि उसने परिजनों की सहमति के बिना मुस्लिम लड़के से शादी की है। इससे वहां पढ़ने वाली और लड़कियों पर भी असर पड़ेगा।

जबकि कॉलेज प्रशासन ने छात्रा के आरोपों को गलत बताया है। कॉलेज प्रशासन का कहना है कि वह 10 दिन से ज्यादा समय से कॉलेज से गायब थी, इसलिए वह अपने परिजन के साथ कॉलेज आए। (eenaduindia)

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE