मध्य प्रदेश में शुरू हुए किसान आंदोलन से बीजेपी की मुश्किलें खत्म नहीं हुई थी कि अब पडोसी राज्य छत्तीसगढ़ में भी किसान आंदोलन की सुगबुगाहट शुरू हो गई है. राज्य के विभिन्न किसान संगठनों ने 11 जून से रमन सिंह सरकार के खिलाफ आंदोलन छेडऩे की चेतावनी दी है.

किसानो के आरोप है कि राज्य सरकार ने पिछले चुनाव के दौरान किए वायदों को पूरा नहीं किया है. हालांकि आंदोलन से पहले कुछ किसानों ने मुख्यमंत्री रमन सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात की है.

और पढ़े -   कोहराम की खबर का हुआ असर, कथित शिवसेना नेता ने किया प्रोफेसर का घर खाली

किसानों की शिकायत है कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने छत्तीसगढ़ के किसानों से धान का समर्थन मूल्य 1200 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 2100 रुपए प्रति क्विंटल करने का वायदा किया था. इसके अलावा प्रति क्विंटल बोनस भी 270 रुपए से बढ़ाकर 300 रुपए करने का भरोसा दिलाया गया था. लेकिन अभी तक ये वायदा पूरा नहीं हुआ.

चुनावो के दौरान किये गए वादों के पूरा न होने को लेकर शाह ने बीजेपी नेताओं को चेतावनी दी है. उन्होंने कहा, जो वायदा पूरा ना किया जा सके उसका जिक्र ना किया जाए.

और पढ़े -   तीन तलाक पर शरीयत में दखलंदाजी, सुप्रीम कोर्ट का फैसला मंजूर नहीं: दरगाह आला हजरत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE