यूपी की राजधानी लखनऊ में करीब 25 साल पहले यूपी के पीलीभीत जिले में हुए फर्जी मुठभेड़ के बहुचर्चित मामले में राजधानी की सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को अपना फैसला सुनाते हुए 47 पुलिसकर्मियों को दोषी करार दिया है.

पीलीभीत फेक एनकाउंटर केस: 25 साल बाद 47 पुलिस वाले दोषी करार

बता दे क12 जून 1995 पीलीभीत के तीन थानाक्षेत्रों में कथित मुठभेड़ हुई थी जिसमें 11 सिख तीर्थयात्रियों को उग्रवादी बताकर मार डाला गया था. जब इसकी सीबीआर्इ जांच हुर्इ जो मुठभेड़ फर्जी पार्इ गर्इ. इसके बाद 57 पुलिसकर्मियों के खिलाफ अपहरण, हत्या, साजिश रचने आदि संगीन धाराओं में चार्जशीट दाखिल की गई थी.

ट्रायल के दौरान 10 मुल्जिमों की मौत हो चुकी है. वहीं, शेष 47 मुल्जिमों के मामले में बीती 29 मार्च को सुनवाई पूरी हो गई थी.

सीबीआई के विशेष जज लल्लू सिंह इस मामले में शुक्रवार को अपना फैसला सुनाते हुए 47 पुलिसकर्मियों को दोषी करार दिया है. पीड़ित परिवारों के लिए यह फैसला राहत भरा है, लेकिन जिन अपनो को उन्होंने खो दिया उनका गम उन्हें जिंदगी भर रहेगा. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें