लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश सरकार ने सूबे में उर्दू टीचर के लिए 3500 नौकरियां निकली है, लेकिन इच्छुक अभ्यर्थियों को आवेदन करने से पहले यूपी सरकार के नोटिस को अच्छी तरह पढ़ लें. क्‍योंकि अगर आपकी एक से ज्‍यादा पत्नी हैं तो आप आवेदन नहीं कर सकते.

यूपी में एक से ज्यादा पत्नी वाले नहीं बन पाएंगे उर्दू टीचर

शिक्षकों की नियुक्ति के लिए जारी नोटिस में कहा गया है कि अगर किसी भी कैंडिडेट की एक से ज्यादा पत्नी हैं तो वह राज्‍य में उर्दू शिक्षक नहीं बन सकता. इस सूचना में यह भी कहा गया है कि महिला उम्‍मीदवार जिसने ऐसे व्यक्ति से शादी है जिसकी दो पत्नियां हैं और पहली जीवित हैं, वह भी इस पद के लिए आवेदन नहीं कर सक पाएंगे.

हालांकि मुस्लिम समाज ने इसका विरोध किया है. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि ये मुसलमानों के अधिकारों का हनन है. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि उनके धर्म में चार विवाह को अनुमति है. बोर्ड ने सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाया है. विवाद बढ़ने पर शिक्षा विभाग से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि यह निर्देश सिर्फ उर्दू शिक्षकों के लिए ही नहीं है बल्कि उन सभी के लिए है जो शिक्षक बनने में रुचि रखते हैं.

आपको बता दें कि प्रदेश में प्राइमरी स्कूल में उर्दू टीचर की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है. कैंडिडेट्स 10 जनवरी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. साभार: न्यूज़ 18


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें