allah

बुलंदशहर गैंगरेप मामले की सुनवाई करते हुए शुक्रवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट की डबल बेंच ने सीबीआई जांच के आदेश दिए है.

इस मामलें में इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डी.बी. भोसले ने स्वत: संज्ञान लिया था. जिसके बाद चीफ जस्टिस डी.बी. भोसले और जस्टिस यशवन्त वर्मा की डिवीजन बेंच ने पहले 8 अगस्त को मामले की सुनवाई करते हुए बुलन्दशहर एसएसपी से मामले की विवेचना की प्रगति रिपोर्ट तलब की थी. र्ट इस मामले मे सरकार की ओर से अभी तक की जांच से संन्तुष्ट नही हुई.

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

कोर्ट ने कहा कि इसी हाईवे पर मई से जुलाई के बीच चार अन्य रेप की वारदातें हुईं. उन पर सुनवाई के लिए कोर्ट ने 17 अगस्त की तारीख मुकर्रर की जाती है. कोर्ट ने यह भी कहा कि मां-बेटी के साथ गैंग रेप की इस घटना से पहले 7 मई को भी उसी हाईवे पर ऐसी ही एक घटना हुई थी.

और पढ़े -   अमित शाह ने नरोदा गाम दंगे मामले में किया माया कोडनानी का बचाव

इसके साथ ही कोर्ट ने मामले में सख्त रुख अपनाते हुए राज्य सरकार से भी पूछा था कि क्यों न मामले की जांच सीबीआई से करायी जाये. वहीं 10 अगस्त को मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने बगैर हलफनामे के विवेचना रिपोर्ट कोर्ट में पेश करने पर सख्त नाराजगी जतायी थी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE