सूबे के काबिना मंत्री आजम खान ने शुक्रवार को बुलंदशहर की डीएम बी चन्द्रकला का बचाव करते हुए कहा कि बिना सहमती के सेल्फी लेना ठीक नहीं है.

डीएम चन्द्रकला के बचाव में कूदे आजम खान, बिना सहमती सेल्फी लेना गलत

आजम ने स्पष्ट कहा कि ‘सेल्फी लेने का मर्ज घटिया है, मेरे बारे में भी सोशल मीडिया में गलत प्रचार हुआ था.’ आजम खान का यह बयान राष्ट्रीय लोकदल के विधायक द्वारा जिला प्रशासन के तानाशाही रवैये वाले रिमार्क के बाद आया.

इससे पहले युवा राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ताओं ने डीएम बी चन्द्रकला के लिए बुद्धि शुद्धि के लिए हवन किया. रालोद के अलावा कांग्रेस और बीजेपी ने जिलाधिकारी द्वारा दैनिक जागरण के रिपोर्टर के खिलाफ केस दर्ज कराने पर विरोध जताया है.

आपको बता दें कि एक युवक को डीएम बी चन्द्रकला का जबरन सेल्फी लेने के बाद उसे शांतिभंग के आरोप में जेल भेज दिया गया था. जिसके बाद दैनिक जागरण के संवाददाता ने उन्हें फ़ोन कर इस मामले में बातचीत करनी चाहा तो जिलाधिकारी ने इस मामले को महिला के रेस्पेक्ट से जोड़ते हुए उसे खूब खरी खोटी सुनाई.

इसका ऑडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया में मिलीजुली प्रतिक्रिया आई थी. लेकिन जिला प्रशासन ने ऑडियो लीक होने के बाद पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज किया. अब यह मामला राजनीतिक तूल पकड़ने लगा है. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें