usman

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार धर्म आधारित राजनीती करते-करते अब देश के लिए अपनी जान देने वालों को भी उनके धर्म के आधार पर शहीद का दर्जा देती हैं.

दरअसल मध्यप्रदेश सरकार राजधानी भोपाल में देश का पहला शौर्य स्मारक बनवाने जा रही हैं. जिसका उद्घाटन खुद प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी करेंगे. लेकिन मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने इसमें भी  मुस्लिमों से नफरत जगजाहिर करते हुए परमवीर अब्दुल हमीद और ‘नौशेरा का शेर’ के नाम से विख्यात और महावीर चक्र से सम्मानित ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान को शहीद शूरवीरों की गैलरी में स्थान देना उचित नहीं समझा.

और पढ़े -   सड़क पर तड़प-तड़प कर मर गया युवक, सेल्फीवीर अस्पताल पहुंचाने के बजाय खींचते रहे तस्वीरें

शहीद शूरवीरों की इस गैलरी में 22 शूरवीरों की दास्तां दर्ज की गई है. इनमें नौ परमवीर और 13 महावीर हैं. हालंकि बाद में विभाग के प्रमुख सचिव मनोज श्रीवास्तव ने इसे एक भूल बताते हुए लोकार्पण से पहले इसे सुधारने की बात कही हैं.

शिवराज सरकार की इस हरकत के सामने आने के बाद मुस्लिम समुदाय ने सख्त नाराजगी जाहिर करते हुए देश के दो अमर शहीदों का अपमान करने पर माफ़ी की मांग की हैं.

और पढ़े -   कश्मीरी हाजियों का पहला जत्था रवाना, महबूबा ने की राज्य के लिए दुआ की दरखास्त

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE