केरल के कन्नूर जिले में केज़ुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) स्थानीय केंद्र से सात उच्च विस्फोटक स्टील्स बम बरामद किए गए हैं।

ये बम बॉट्स से ढके हुए बक्से में पाए गए हैं। न्यूज़क्लेक से बात करने वाले स्थानीय सूत्रों ने कहा कि यह मंदिर आरएसएस द्वारा संचालित होता है। पिछले साल, बालोगोकुलम, बच्चों के लिए संघ परिवार द्वारा ‘शोभा यात्रा’ आयोजित की गई थी। इस शोभा यात्रा का अंतिम पड़ाव ये मंदिर ही था।

और पढ़े -   पूर्व केंद्रीय मंत्री मोहम्मद तस्लीमुद्दीन का हुआ देहांत

गुरुवार, 7 सितंबर को क्षेत्र में झाड़ियों को साफ़ कर रहे मजदूरों को ये बम नजर आए। जाँच में पता चला कि इन बमों का निर्माण हाल ही में हुआ।

ध्यान रहे पिछले साल अगस्त में श्री कृष्ण जयंती समारोह के समय एक आरएसएस कार्यकर्ता दीक्षित ने हत्या कर दी थी। जबकि कन्नूर जिले के थलास्सेरी में देसी बमों का इस्तेमाल किया गया था। पुलिस ने हथियारों के साथ बड़ी कैश भी बरामद की थी।

पूनमबाथ प्रदीप, दीक्षित के पिता जो कन्नूर से भाजपा नेता हैं। वहीँ दीक्षितजी के भाई दिलजीत केरल में 2015 के पंचायत चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के उम्मीदवार थे। हाल के वर्षों में धार्मिक त्योहारों में चालाने के लिए बम बनाने के दौरान आरएसएस के कई कार्यकर्ताओं की मौत हुई है

और पढ़े -   बीजेपी की और से मेरे पिता भी हो प्रत्याशी तो भी वोट मत देना: हार्दिक पटेल

संघ के नेतृत्व वाली समितियों द्वारा मंदिर अक्सर हिंदुत्व संगठन द्वारा हथियारों के प्रशिक्षण और वै।चारिक प्रचार के लिए केंद्र के रूप में उपयोग किया जाता है। राजनीतिक पर्यवेक्षकों का मानना है कि आरएसएस का प्रयास हिंसा के कृत्यों में शामिल होने और फिर अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों पर आरोप लगाकर सांप्रदायिक तनाव को बिगाड़ना है।


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE