महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार ईदुल अजहा पर निगरानी रखने के लिए ‘बकरा ऐप’ लाने जा रही है. जिसके चलते मुस्लिम समुदाय को कुर्बानी के बारे में पूरी जानकारी सरकार को देनी होगी.

मुंबई देवनार कत्लखाने के प्रबंधक डा. योगेश शेट्टे ने बताया कि 21 फररवरी तक ऐप तैयार हो जायेगा. बकरीद तीन दिन तक चलती है, इसलिए कुर्बानी देने वालों को उस ऐप में अपना नाम पता और पैन कार्ड, आधार कार्ड और दूसरे पहचान पत्र का नंबर के साथ कुर्बानी करने की तारीख डालनी होगा. उसके बाद खुद ब खुद उन्हें बकरे की कुर्बानी की इजाजत मिल जाएगी.

और पढ़े -   AMU के बाब-ए-सैयद पर वंदे मातरम् के साथ दक्षिणपंथियों ने की गोलीबारी

बीएमसी के इस फैसले पर एमआईएम ने विरोध किया है. उनका कहना है कि इस फैसले से सरकार मुस्लिम त्योहारों पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रही है.

हालांकि डॉक्टर योगेश शेट्टे का कहना है कि इस ऐप में जानकरी मिल जाने  से बीएमसी को सफाई करने में आसानी होगी. चूंकि उन्हें पता होगा कि कब कहां-कहां कुर्बानी होने वाली है तो उसी हिसाब से वो बीएमसी कर्मचारी वहां जाकर तुरंत सफाई कर पाएंगे इससे दूसरों को कोई परेशानी नहीं होगी.

और पढ़े -   मध्यप्रदेश: शिवराज के मंत्री ने किया स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रध्वज का अपमान

गौरतलब रहें कि ईदुल अजहा मुस्लिमों का दूसरा सबसे बड़ा त्यौहार है. ये त्यौहार तीन दिन तक चलता है. जिसमे मुसलमान मवेशी जानवरों की कुर्बानी करते है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE