चंडीगढ़ मंगलवार को हरियाणा विधानसभा में जाटों समेत पांच अन्य जातियों के लिए आरक्षण बिल पास होने के बाद कुरुक्षेत्र से बीजेपी के सांसद राजकुमार सैनी ने घोषणा की कि वह इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

दिल्ली में प्रेस के लोगों से बात करते हुए उन्होंने बिल पास होने पर कहा, ‘यह लोकतंत्र की हत्या है।’ राजकुमार ऑल इंडिया ओबीसी ब्रिगेड के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने कहा, ‘हमें अपने घर में ही न्याय नहीं मिला। हम पर अत्याचार किया गया है। अब मैं इस मामले में सुप्रीट कोर्ट जाऊंगा। अगर मुझे न्याय नहीं मिला, तो मैं अपना घर और राजनीति छोड़ दूंगा।’

राजकुमार सैनी, सांसद, बीजेपीराजकुमार बिल को पास कराए जाने के तरीके और हड़बड़ी में बिना चर्चा के ही पास करने से नाखुश दिखे। उनके करीबी और ओबीसी ब्रिगेड के नेता सतीश यादव ने कहा कि तीसरे और चौथे दर्जे की नौकरियों के लिए पिछड़ी जातियों (BC- A & B) के लिए पहले से 27 प्रतिशत आरक्षण था। उन्होंने कहा, ‘लेकिन प्रथम और द्वितीय दर्जे की पोस्ट्स में इन जातियों के लिए यह सिर्फ 15 प्रतिशत था। हमारी मांग थी कि केंद्र सरकार की नौकरियों और अन्य राज्यों की तरह यहां भी कोटा 27 प्रतिशत तक किया जाए। हालांकि हरियाणा सरकार ने इसे 17 प्रतिशत तक ही रखा है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हमें किसी को आरक्षण देने से ऐतराज नहीं है। हम केवल अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं।’

राज्य की बीजेपी सरकार ने जाटों समेत अन्य पांच जातियों को सरकारी नौकरियों और शैक्षिक संस्थानों में आरक्षण देने के लिए पिछड़ी जातियों की अलग कैटगरी (BC-C) बनाई है। (NBT)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE