गोरखपुर. पीएम मोदी के मंत्री अपने सांसदों और वरिष्ठों की बातों को तवज्जो नहीं दे रहे हैं। सर्राफा आंदोलन के दौरान व्यवसासियों से घिरे एक सांसद का दर्द कुछ यूं उभरा कि उनके दिल की बात जुबां पर आ ही गई।
bjp mp
 सर्राफा व्यवासायी पिछले कई हफ्तों से एक्साइज ड्यूटी बढ़ाए जाने का विरोध कर रहे हैं। आंदोलन के दौरान सर्राफा व्यवसायियों ने कुशीनगर के सांसद राजेश उर्फ गुड्डू पांडेय को घेरकर बैैठा लिया। कारोबारी सांसद से अपनी बात बताने लगे और बातों बातों में सांसद का दर्द भी उभर आया। उन्होंने पहले पूछा कि कोई मीडिया का तो यहां नहीं है। फिर कहना शुरू कर दिया कि वित्त मंत्री अरुण जेटली जनता के बीच तो कभी रहे नहीं। राज्यसभा के सदस्य हैं। मंत्री हो गए हैं। वह जनता की आवाज को क्या समझें।
उन्होंने आगे बताया कि राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, मुरली मनोहर जोशी, वे खुद और ढेर सारे सांसद उनसे इस काले कानून को हटाने की बात कह चुके हैं लेकिन वे सुन ही नहीं रहे हैं।
बता दें कि सांसद गुड्डू पांडेय भाजपा के कद्दावर नेता हैं। पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेयी के लखनउ संसदीय क्षेत्र के मीडिया प्रभारी रहे हैं। कई बार एमएलसी रह चुके हैं। पूर्व केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री राजमंगल पांडेय के पुत्र हैं। (Patrika)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें