khiv

राजस्थान में शराबबंदी की मांग को लेकर जगह-जगह पर आंदोलन हो रहे हैं. वहीँ राजस्थान के उद्योग मंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर का बयान सामने आया हैं जिसमे उन्होंने शराब पीने को मोलिक अधिकार बताया हैं. उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर शराबबंदी हुई वहां युवाओं ने व्यसन के गलत तरीके अपना लिए हैं. उन्होंने शराबबंदी को शराब पीने से रोकने का कारगर हथियार मानने से भी इनकार कर दिया.

और पढ़े -   झारखंड: पीट-पीट कर हत्या करने के मामले में सात और गिरफ्तार, कुल 26 लोग गिरफ्तार

उनके इस बयान की निंदा की जा रही हैं. प्रदेश कांग्रेस ने कहा कि सरकार में बैठे मंत्री ऐसे बयान देकर प्रदेश में शराब संस्कृति को हतोत्साहित करने के बजाए बढ़ावा दे रहे हैं. गौरतलब कि शराबबंदी की मांग पर ही राजस्थान में पूर्व विधायक गुरुशरण छाबड़ा ने अपनी जान की परवाह नहीं की. छाबड़ा परिवार के सदस्य के आह्वान पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार जल्द ही शराबबंदी आन्दोलन को लेकर राजस्थान की यात्रा पर आने वाले हैं.

और पढ़े -   जेवर गैंगरेप कांड: पहले पुछा क्या मुस्लिम हो, फिर कहा गोमांस खाते हो और दिया वारदात को अंजाम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE