कर्नाटक बीजेपी के प्रवक्ता ने ब्राहमनों को लेकर विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि भारत के कृषि प्रधान देश बनने के पहले ब्राह्मण भी खाने के लिए गोवध करते थे.

वामन आचार्य ने एक कन्नड़ न्यूज़ चैनल पर बहस के दौरान कहा, ‘भारत के कृषि प्रधान देश बनने के पहले, ऐसे उदाहरण हैं जब ब्राह्मण सहित सभी समुदायों ने खाने के लिए गोवध किया.’

और पढ़े -   अब महाराष्ट्र में सामने आया 800 करोड़ का घोटाला, सीएम फड़णवीस से होगी पूछताछ

आचार्य के विवादास्पद बयान के तूल पकड़ने के बाद पार्टी नेताओं ने खुद को इस बयान से अलग कर लिया है. हालांकि वामन ने भी इस बयान से पल्ला झाड लिया.

उन्होंने कहा,  मैं इस मुद्दे पर किसी प्रकार का विवाद नहीं चाहता हूं, इसलिए अपनी बात वापस ले रहा हूं. मैं चाहता हूं कि इस मामले को तूल न दिया जाए और यहीं खत्म कर दिया जाए. मैं नही चाहता हूं कि मेरे वजह से मेरी पार्टी को किसी भी प्रकार की मुसीबत या नुक्सान उठाना पड़े.

और पढ़े -   आदिवासी के घर खाना खाने पहुंचे अमित शाह, शौचालय को लेकर हुई फजीहत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE