गोरखपुर – भीड़तंत्र किसी का नही होता, ना उनका जो उसके दुश्मन है ना उनका जिन्होंने जनता को हिंसक -भीड़ में बदल दिया. ऐसा ही नज़ारा गोरखपुर में देखने को मिला जहाँ गुस्साई भीड़ ने ना सिर्फ बीजेपी नेता को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा बल्कि उनकी बाइक को भी आग लगा डाली. यह सब तब हुआ जब प्रदेश और राज्य केंद्र दोनों में भाजपा की सरकार है.

क्या था मामला ?

मीडिया की ख़बरों के मुताबिक  वार्ड नंबर-69 महुई सुघरपुर में शनिवार की सुबह नाली बनवाने की फरियाद कुछ लोग पहुंचे जहाँ निर्दलीय पार्षद मनोरमा देवी के पति रामदयाल ने भाजपा नेता दीपक दुबे को दौड़ा दौड़ा कर पीटा और लाइसेंसी रिवाल्वर छीन ली. इतना ही नहीं रामदयाल के समर्थकों ने दीपक की बुलेट भी फूंक दी। जैसे-तैसे जान बचाकर दीपक ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दीपक की तहरीर पर हत्या की कोशिश, छिनैती, बाइक फूंकने की धाराओं में केस दर्ज कर रामदयाल को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद महुई सुघरपुर में तनाव है। इसे देखते हुए पुलिस, पीएसी की तैनाती की गई है।

और पढ़े -   सभी धर्मों के लोग आये साथ में, निकाला अमन मार्च

सीधे तौर पर देखा जाए तो मामला यह है की पार्षद के पति रामदयाल है तथा आनेवाले चुनावो के लिए भाजपा नेता दीपक दुबे अपनी तैयारी में लगे है इसी लिए दोनों लोगो में आपसी खीचतान तो होनी ही है इसीलिए दीपक दुबे एक नाली बनवाने की फरियाद लेकर पार्षद पति के पास पहुँच गये. दोनों में गर्मागर्म बहस होने लगी और मारपीट शुरू हो गयी. पहले किसने किसको मारा यह तो साफ़ नही कहा जा सकता लेकिन पुलिस रिपोर्ट में दीपक दुबे के पीटने और असलहा छीनने की बात कही गयी है. दीपक को पिटता देख कुछ लोग आगे आए मगर रामदयाल के समर्थकों की संख्या ज्यादा होने की वजह से वे कुछ नहीं बोले। इसी बीच दीपक की बाइक को भी समर्थकों ने आग के हवाले कर दिया। मारपीट में भाजपा नेता को गंभीर चोट आईं हैं।

और पढ़े -   AMU के बाब-ए-सैयद पर वंदे मातरम् के साथ दक्षिणपंथियों ने की गोलीबारी

घटना के बाद पार्षद के पति और उनके समर्थक खोराबार थाने पहुंच गए। वहां हंगामा करने लगे। इस दौरान भाजपा नेता के खिलाफ तहरीर देकर उनपर मारपीट का आरोप लगाया। दूसरी तरफ घायल भाजपा नेता और उनके समर्थक भी थाने पर एकत्र हो गए। इसी बीच तमाम और भाजपा नेता थाने पहुंच गए। भाजपा नेता ने पुलिस को तहरीर दी। इसी आधार पर पार्षद के पति के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद सीओ कैंट की सख्ती के बाद राम दयाल के समर्थक खिसक लिए।

और पढ़े -   यूपी के बाद अब एमपी में स्वतंत्रता दिवस पर मदरसों की फोटोग्राफी के आदेश

ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें Hindi News

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE