रायबरेली में हिन्दू-मुसलमानों के बीच भाईचारा कायम करने के लिए पैगाम-ए-इंसानियत के मंच पर एक साथ हिंदू मुस्लिम धर्मगुरूओं ने सद्भावना का संदेश दिया। इस प्रोग्राम में पहुंचे कल्कि पीठ के धर्मगुरु प्रमोद कृष्णनम ने संतों का दर्द बयां करते हुए केंद्र सरकार को खरी-खोटी सुनाई।

controversial-statement-of-acharya-pramod-krishnam-hindi-news

उन्होंने कहा कि मोदी के राज में संत समाज सबसे अधिक दुखी और खुद को ठगा महसूस कर रहा है। पैगाम ए इंसानियत प्रोग्राम में धर्मगुरु प्रमोद ने कहा कि देश में जो बटवारे का माहौल बन रहा है उससे निपटने के लिए और हिन्दू मुसलमानों में एकता व भाईचारे के लिए मैने और मौलाना अब्दुल्ला आजमी ने मिलकर इस प्रोग्राम को करने का फैसला लिया। जहाँ उन्होंने मोदी सरकार को दुत्कारते हुए कहा कि मोदी सरकार अपने एजेंडों को भूल गई है वहीं उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी में काबिलियत है, उनमें बड़े नेता बनने के सभी गुण मौजूद है उनके आने से कांग्रेस मजबूत होगी और उसे बल मिलेगा।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें