bjpp12

लखनऊ: मुस्लिम उम्मीदवारों के बिना विधानसभा चुनाव जीत सरकार बनाने वाली बीजेपी को आखिर अब निकाय चुनाव में मुस्लिमों की जरुरत पेश आ ही गई, ऐसे में अब पार्टी ने नगर पंचायत अध्यक्ष से लेकर पार्षद तक में इस बार मुस्लिमों को टिकट दिए हैं.

बीजेपी ने मुस्लिम चेहरों पर दांव लगाया है. अकेले लखनऊ में बीजेपी ने चार मुस्लिम उम्मीदवार उतारे हैं, जबकि वाराणसी में तीन मुस्लिम उम्मीदवारों पर दांव लगाया है. इसके अलावा मेरठ, बिजनौर, कासगंज में मुस्लिम महिलाओं को उम्मीदवार बनाया है.

ध्यान रहे सहारनपुर, बिजनौर, मुरादाबाद, बहराइच, मुजफ्फरनगर, बलरामपुर, मेरठ, अमरोहा, रामपुर, बरेली, श्रावस्ती जैसे जिलों में मुस्लिम आबादी 30% से अधिक है. वहीँ अलीगढ़, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, संभल, शामली जैसे जिलों की कई नगर पंचायतों में 50 से 70% तक मुस्लिम वोटर हैं.

ऐसे में अब बीजेपी के पास मुस्लिमों को टिकट देने के अलावा कोई रास्ता नहीं था. इस बारें में बीजेपी के एक नेता का कहना है कि पार्टी इस बार मेयर से लेकर वॉर्ड सदस्य तक का चुनाव गंभीरता से लड़ रही है. ऐसे में अगर मुस्लिमों की उम्मीदवारी को दरकिनार किया जाए तो कई जगहों पर दावेदारी का ही संकट हो जाएगा.

आप को बता दें कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव में यूपी में मुस्लिमों को एक भी टिकट नहीं दिया गया था. टिकट ने देने के सवाल पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का जवाब था ‘टिकट जिताऊपन के आधार पर तय होता है न कि धर्म-जाति पर’


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE