dipa

उत्तर प्रदेश का निकाय चुनाव हाई प्रोफाइल लोगों द्वारा अहमियत दिए जाने से चर्चा का विषय पहले से ही बना हुआ है लेकिन अब महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की बहु ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर के चुनाव को अजीब ही रंग दे दिया है

दरअसल, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की बहु और पंकज कोविंद की पत्नी दीपा कोविंद ने कानपुर देहात की झींझक नगर पालिका की अध्यक्ष पद के लिए बीजेपी से टिकट के लिए आवेदन किया था. लेकिन पार्टी ने उन्हें टिकट देना जरुरी नहीं समझा.

ऐसे में दीपा ने बीजेपी से टिकट नहीं मिलने के बाद भी चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया. वह निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतर गई. दीपा के निर्दलीय चुनाव लड़ने के खबर से ही राजनीतिक जगत में खलबली मच गयी है.

दीपा ने अपने घर में चुनाव कार्यालय खोला है. दीपा का कहना है वह अपनी महिला समर्थकों के सहारे चुनाव लड़ रही हैं. इसमें वह अपने ससुर का सहयोग नहीं लेंगीं. उनका कद काफी बड़ा है.

वहीँ बीजेपी ने सरोजनी देवी कोरी को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. दीपा के चुनाव लड़ने पर उनका कहना है कि राष्ट्रपति की बहू के चुनाव लड़ने से हमारा कोई नुकसान नहीं होगा बल्कि फायदा होगा. उनमें और हमारे में कोई फर्क नहीं है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE