oml_prakash_ibnkhabar_090916

हरियाणा के मुस्लिम बहुल इलाके मेवात में हरियाणा सरकार द्वारा बिरयानी में बीफ की जांच को लेकर शुक्रवार को मेवात के वकीलों ने सरकार के खिलाफ मौर्चा खोल दिया हैं.

नूहं में वकीलों द्वारा की गई कॉन्फ्रेंस में बिरयानी की जांच को राजनितिक बिरयानी का मामला बताते हुए कहा कि इस के बहाने मेवात के आपसी भाईचारे को बिगाड़ने की साजिश रची जा रही है.

और पढ़े -   आपसी भाईचारे की मिसाल बनता रेलवे स्टेशन फैजाबाद मस्जिद का रोज़ा अफ्तार

उन्होंने इस मुद्दें पर महापंचायत करने के साथ हाई कोर्ट में पीआईएल दाखिल करने की बात कही हैं.  वकीलों ने कहा है कि बिरयानी की जांच की बजाए गो-हत्यारों और गो का मीट बेचने वालों को गिरफ्तार करें न की अपने बच्चों का पेट पालने वालों को परेशान करें.

वकीलों ने दावा किया कि ‘पकने के बाद मीट की जांच ही नहीं की जा सकती, अगर जांच हो तो इसका पता नहीं लगाया जा सकता की यह कौन से पशु का मीट है?’ इसके अलावा मेवात के पुलिस कप्तान का कहना है कि अभी तक उनको जाँच रिपोर्ट हासिल नहीं हुई है.

और पढ़े -   बीजेपी नेताओं को बचाने के लिए जफर के मामलें को रफादफा करने में जुटी वसुंधरा की पुलिस

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE