shivr

भोपाल की हाई सिक्यूरिटी जेल से आठ सिमी कार्यकर्ताओं के फरार हो जाने और उसके बाद दस घंटों के भीतर मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा भोपाल से 10 किमी के इलाके में तलाश कर एनकाउंटर कर देने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश पुलिस को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने बहुत तत्परातपूर्वक कार्रवाई की है.

चौहान ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘‘मेरी केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी चर्चा हुई. क्योंकि आतंकवादियों के तार केवल प्रदेश में ही नहीं, प्रदेश के बाहर देश में ही नहीं बल्कि दुनिया में भी हैं, और यह केवल मध्यप्रदेश का मामला नहीं है. इससे सहमत होते हुए केंद्रीय गृहमंत्री ने यह फैसला किया है कि इस घटना की जांच एनआईए करेगी ताकि इस घटना के पीछे और भी जो तथ्य और तार हों, उनको भी उजागर किया जा सके.’’

उन्होंने आगे कहा कि जेल से आतंकवादियों का फरार होना अपने आप में बहुत गंभीर घटना है और इसलिये हमने जेल विभाग के चार उच्च अधिकारियों, डीआईजी जेल, जेल अधीक्षक, उप जेल अधीक्षक और सहायक अधीक्षक को निलंबित कर दिया है तथा एडीजी जेल को हटाकर उन्हें पुलिस मुख्यालय में पदस्थ किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच पूर्व पुलिस महानिदेशक नंदन दुबे से कराने का निर्णय किया है. इस जांच में जो तथ्य सामने आएंगे. उसके आधार पर दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि इस आपराधिक लापरवाही के लिए यदि किसी को नौकरी से बर्खास्त करना पड़े तो वही भी किया जायेगा.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें