सहारनपुर जातीय हिंसा के प्रमुख आरोपी और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ़ रावण के भाई कमल को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि बाद में रिहा कर दिया गया.

पुलिस का कहना है कि कमल को सिर्फ पूछताछ के लिए अपने साथ ले गई. अपर पुलिस अधीक्षक प्रबल प्रताप सिंह ने आज बताया कि पुलिस प्रशासन को सूचना मिली थी कि चन्द्रशेखर की मां और भाई पत्रकारों से मिलने वाले है. इसी सूचना के आधार पर पुलिस ने भी चन्द्रशेखर के भाई और मां से चन्द्रशेखर के बारे में मालूमात की थी और उनसे सहयोग की बात कही थी.

सिंह ने बताया कि पुलिस ने चन्द्रशेखर के भाई कमल किशोर को हिरासत में नहीं लिया है और वो अपने घर पर ही है. वहीँ चन्द्रशेखर की मां ने आरोप लगाया कि उसके पुत्र चन्द्रशेखर को पुलिस ने नाहक ही मुकदमों में फंसाया है, जबकि चन्द्रशेखर का किसी हिंसा और किसी को उकसाने में कोई हाथ है.

चन्द्रशेखर के भाई कमल किशोर का कहना था कि यदि चन्द्रशेखर की गिरफ्तारी की गई तो भीम आर्मी के तमाम कार्यकर्ता भी अपनी गिरफ्तारी देगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE