बेंगलुरु : ट्रेन में फोल्डेबल साइकल ले जाना एक लड़के को बहुत महंगा पड़ा। आरोप है कि पहले महिला टिकट कलेक्टर ने लड़के को थप्पड़ मारा और फिर उस पर छेड़छाड़ के आरोप लगाए। इसके बाद रेलवे पुलिस के पांच कर्मचारियों ने लड़के की बुरी तरह धुनाई कर दी।

‘एशियन ऐज’ की रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित शख्स का नाम देशमुख दिशेन्द्र है। देशमुख ने रेलवे के अतिरिक्त डीजीपी और कर्नाटक राज्य मानवाधिकार आयोग को चिट्ठी भेजकर आरोपियों के ख़िलाफ़ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

शिकायत में देशमुख ने कहा है कि उनकी डेकैथलन साइकल को बेंगलुरु के कैन्ट रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद महिला टिकट कलेक्टर ने पकड़ लिया। टिकट कलेक्टर ने देशमुख से जुर्माने के तौर पर 300 रुपयों की मांग की। रोहित ने रसीद मांगी तो टिकट कलेक्टर ने देने से इनकार कर दिया। इस बात पर टिकट कलेक्टर नाराज हो गई और देशमुख को थप्पड़ मार दिया। साथ ही रेलवे पुलिस को बुलाकर छेड़छाड़ का आरोप लगा दिया। इसके बाद उसने पुलिस बुला ली और देशमुख पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया। रेलवे पुलिस ने देशमुख के कपड़े उतार कर उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी।

यही नहीं पुलिस ने देशमुख से जमानत के लिए 5000 रुपए की मांग की।

इसके बाद उस पर मंथली पास होने के बाद भी बिना टिकट यात्रा करने का फाइन लगाया गया। देशमुख के मैनेजर हरीश हसवानी ने उनकी जमानत दी। देशमुख के दोस्तों ने उनके समर्थन में रेलवे अथॉरिटी से दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए एक ऑनलाइन कैम्पेन भी शुरू किया है।

रेलवे पुलिस के एसपी डी प्रकाश ने बताया है कि दरअसल महिला कर्मचारी और देशमुख दोनों ही की ओर से केस दर्ज कराए गए हैं। दोनों ही मामलों में जांच के आदेश दे दिए गए हैं। देशमुख का दावा है कि उन्होंने पूरी घटना को वॉइस रिकॉर्डर में रिकॉर्ड कर लिया था और स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज से भी साफ हो जाएगा कि वह निर्दोष हैं। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें