मध्यप्रदेश में अब ज्योतिषी इलाज करेंगे, बाकायदा इसकों सरकार की और से अस्पतालों में नियुक्त भी किया जा रहा हैं. ये ज्योतिषी कुंडली देखकर मरीजों का इलाज करेंगे.

महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान ये सुनिश्चित करेगा कि मरीज हफ्ते में दो बार ज्योतिषियों की सेवा ले सकें. मध्य प्रदेश पतंजलि संस्कृत संस्थान के डायरेक्टर पी आर तिवारी ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में बताया कि ओपीडी में जिस तरह जूनियर डॉक्टर सीनियर डॉक्टर के देखरेख में काम करता है, ठीक उसी तरह एस्ट्रो ओपीडी में भी ज्योतिषी एक्सपर्ट्स की देखरेख में काम करेंगे.

ज्योतिषी हफ्ते में दो बार तीन से चार घंटे तक या फिर सप्ताह के अंत में लोगों की कुंडली की मदद से रोगों का निदान करेंगे. हालांकि सरकार के इस फैसले का विरोध भी शुरू हो गया है.

एमवाई हॉस्पिटल इंदौर के पूर्व फिजिशियन ने इस मामले पर कहा कि अगर ये सच है तो ये आरएसएस के खुद के लोगों को खुश करने के एजेंडे के अलावा कुछ नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि विधानसभा में अधिनियम पारित होने तक राज्य सरकार अस्पतालों में ऐसे पेशेवरों को तैनात नहीं कर सकती.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE