देश में गौ-आतंकियों ने अल्पसंख्यकों और दलितों पर जुल्म करने के साथ-साथ अब सरकारी कर्मचारियों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है. ताजा मामला तमिलनाडु का है. जहाँ ट्रक में ले गाय ले जा रहे कर्मचारियों के साथ कथित गौरक्षकों ने बुरी तरह से मारपीट की.

नेशनल हाईवे 15 पर हुई इस घटना में तमिलनाडु सरकार के पशुपालन विभाग के अधिकारी राजस्थान के जैसलमेर से 50 गायों और बछड़ों को खरीद कर तमिलनाडु सडक मार्ग से ले जा रहे थे. इस सबंध में उनके पास राजस्थान सरकार की और से जारी एनओसी सहित सभी अनिवार्य डाक्यूमेंट्स थे. साथ ही सभी ट्रक पर सरकारी वाहन का स्टीकर भी लगा हुआ था.

और पढ़े -   आसाराम से पूछा गया: संत हो या कथावाचक, बोले - 'मैं तो गधा हूं'

ट्रक ड्राइवर घेवर राम ने बताया कि पहले 15-20 लोग आए और उसके बाद भीड़ बढ़ती गई. हमने उनसे कहा कि हमारे कागजात देख लो. हमारे साथ पशु चिकित्सक भी हैं. पर उन्होंने कोई भी बात सुनने से इनकार कर दिया. वे तो बस हमें पीटते रहे. उन्होंने ट्रकों में आग लगाने की कोशिश भी की.

बाड़मेर के एसपी गगनदीप सिंगला ने बताया कि ट्रकों पर पथराव करने और उनमें आग लगाने की कोशिश करने वाले 50 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. इनमें से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE