सऊदी अरब, ईरान जैसे इस्लामिक मुल्कों में मोबाइल गेम ‘पोकेमॉन गो’ को प्रतिबंधित करने के बाद अब भारत में बरेली स्थित आला हजरत दरगाह से शनिवार को इस गेम को ‘हराम’ बताते हुए फतवा जारी किया हैं.

दरगाह के मुफ़्ती सलीम नूरी ने कहा कि यह गेम शरीयत के खिलाफ है. इस गेम में शैतान को बेहद ताकतवर दिखाया गया है, जबकि शैतान को किसी भी धर्म में अपनाया नहीं गया है.

और पढ़े -   गौरक्षकों को ईद उल अजहा पर हुए कुर्बानी बकरों की तेरहवीं मनाना पड़ा महंगा

ध्यान रहें इस गेम को लेकर आला हजरत दरगाह से दक्षिण अफ्रीका ओर मॉरीशस के मुस्लिमों ने सवाल पूछे थे. जिसका जवाब देते हुए मुफ़्ती नूरी कहा कि इस गेम की वजह से लोग काल्पनिक दुनिया में जी रहे होते हैं, जिसकी वजह से दुर्घटनाएं हो रही हैं. यह असुरक्षित है और इस्लाम में हराम है.

पोकेमॉन गो एक रियलिटी मोबाइल गेम हैं. लोकप्रियता के मामलें में इस गेम ने फेसबुक को भी पछाड़ दिया है. साइबर सुरक्षा से जुड़े लोगों ने भी कहा है कि भारतीय वेब-स्पेस में इस नाम के कई फर्जी और खराब एप्प मौजूद हैं, जो लोगों के फोन में मौजूद सूचनाएं चुरा सकते हैं.

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE