कोलकाता। – हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की जमानत अर्जी बुधवार को अदालत ने मंजूर कर ली। विशेष एडीजे नीलकंठ सहाय ने कमलेश को 25 हजार की दो जमानतें व इतनी ही धनराशि का मुचलका दाखिल करने पर रिहा करने का आदेश दिया है। कमलेश तीन दिसंबर, 2015 से जेल में हैं। कमलेश पर पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित बयान देने का आरोप है।

और पढ़े -   आदिवासी के घर खाना खाने पहुंचे अमित शाह, शौचालय को लेकर हुई फजीहत

51 लोगो को तलाश रही पुलिस

मालदा के कालियाचक में बीते तीन जनवरी को रैली के दौरान हुई भीषण हिंसा के बाद पुलिस अब इदारा ए शरिया संगठन की ओर से जारी खत पर दस्तखत करने वाले 51 लोगों की तलाश कर रही है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस खत के जरिए ही रैली आयोजित करने की अनुमति मांगी गई थी।

और पढ़े -   पश्चिम बंगाल: निकाय चुनाव में चला ममता का जादू, निकली मोदी लहर की हवा

कालियाचक थाने में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि करामत अली मार्केट की पहली मंजिल पर स्थित इदारा ए शरिया का दफ्तर भी तीन जनवरी के बाद से ही बंद है। घटना के बाद से यह दफ्तर नहीं खुला है। ज्ञात हो कि इस संगठन से बिहार की सत्ताधारी जदयू के राज्यसभा सदस्य गुलाम रसूल बलियावी के संबंध होने का खुलासा होने के बाद राजनीतिक बवाल भी मचा है।

और पढ़े -   AMU के बाब-ए-सैयद पर वंदे मातरम् के साथ दक्षिणपंथियों ने की गोलीबारी


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE