The BJP won the state elections in Uttar Pradesh districts half the curfew: Mohammad Azam Khan

वाराणसी । वाराणसी पुलिस ने बुधवार को यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खान को एक पोस्‍टर में बैल के तौर दिखाया गया हैं। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया हैं। आरोपी मनोज कुमार पांडे नाम का एक किसान है। पुलिस के अनुसार ये पोस्‍टर उसी ने लगवाए हैं क्‍योंकि स्‍थानीय पुलिस बीते महीने चोरी हुए उसके बैल को नहीं ढूंढ रही थी।

इन पोस्‍टरों में पांडे ने कथित तौर पर गोहत्‍या के विरोध में भी संदेश लिखा है। मनोज पांडे सारनाथ इलाके के बरईपुर गांव का रहवासी है। पोस्‍टर में पांडे के बैल ‘बादशाह’ की भी फोटो है। इन पोस्‍टरों में पांडे ने कहा है कि पुलिस आजम खान की भैंसों को 24 घंटे में ढूंढ लेती है, लेकिन 24 दिन गुजरने के बावजूद उसके बैल के बारे में कुछ भी पता नहीं कर पाई है।

एडिशनल एसपी प्रोटोकॉल सुरेश चंद्र रावत ने द इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत में मामले को संगीन बताते हुवे कहा कि अपमानजनक फोटो और तथ्‍य पेश करने का मामला दर्ज किया गया है और आरोपी को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पांडे के मुताबिक, वे एक आम आदमी हैं, इसलिए उनके बैल का 24 दिन बीत जाने के बावजूद कोई अता पता नहीं है। उसने दावा किया कि वह बैल का शिव के वाहन ‘नंदी’ के तौर पर पूजा करता है। पांडे ने बताया कि उसने सारनाथ पुलिस के पास 17 अप्रैल को एफआईआर दर्ज कराई कि तीन लोगों ने उसके बैल को बूचड़खाने में बेच दिया है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें