मुंबई। मुंबई की सबसे बड़ी ऑटो रिक्शा यूनियन ने मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस को पत्र लिखकर मनसे प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने की मांग की है। ठाकरे ने भड़काउ बयान देते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की थी कि वे बाहरी लोगों के ऑटोरिक्शा जला डालें। पत्र में मुंबई ऑटोरिक्शा टैक्सीमेन यूनियन के प्रमुख शशांक राय ने आरोप लगाया कि अंधेरी में ऑटो जलाए जाने के पीछे मनसे कार्यकर्ताओं का हाथ था।

ऑटो यूनियन का राज ठाकरे के खिलाफ कार्रवाई की मांग, मनसे ने आंदोलन रोका

पत्र में लिखा है कि हमने मामले को लगातार देखा जिसके बाद राज्य सरकार हरकत में आई और ऑटोरिक्शा वालों को परमिट जारी करने का दूसरा चरण शुरू हुआ। हालांकि राज ठाकरे ने इसका विरोध किया है और अपने लोगों से कहा है कि ऑटोरिक्शा को आग लगा दें और दुर्भाग्यवश ऐसा हुआ भी। राव ने आरोप लगाया कि ऑटो को आग लगाना मनसे कार्यकर्ताओं का काम है।

और पढ़े -   सेना महिला को अगवा कर बलात्कार कर सकती, लेकिन कोई उनसे सवाल नहीं कर सकता: सीपीएम नेता

बाहर से आने वालों का ऑटोरिक्शा जला दो के बयान को लेकर चारों ओर से हमला झेल रहे मनसे प्रमुख राज ठाकरे नरम रुख में दिखे और पार्टी कार्यकर्ताओं से आंदोलन को अस्थायी विराम देने को कहा। दूसरी ओर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडवणीस ने ऑटो चालकों को सुरक्षा का आश्वासन दिया है। राज ठाकरे ने पार्टी की 10वीं वषर्गांठ पर ऑटोरिक्शा जलाने वाला बयान दिया था, उसके अगले ही दिन कुछ अज्ञात लोगों ने अंधेरी में चार बंगला रोड पर एक ऑटो को आग के हवाले कर दिया।

और पढ़े -   रमजान की आमद पर सिख और हिंदू भाइयों का तोहफा, मुस्लिमों को बना कर दी मस्जिद

इस पूरे घटनाक्रम के बाद ठाकरे ने शुक्रवार को आंदोलन को अस्थायी विराम देने की बात कही है। मनसे नेता शिरिष सावंत ने कहा कि चूंकि नए ऑटोरिक्शा अभी भी सड़कों पर नहीं आए हैं, ऐसे में कुछ असामाजिक तत्व स्थिति का नाजायज फायदा उठा रहे हैं। राज ठाकरे ने कहा है कि अगले आदेश तक पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन आदेशों की कड़ाई से पालन किया जाएगा।

और पढ़े -   यूपी: भ्रष्टाचार का किया विरोध तो बीजेपी नेता ने युवक को बुरी तरह से पीटा

अपनी ओर से मुख्यमंत्री फडणवीस ने ठाकरे की धमकियों को हल्का करते हुए कहा कि सभी ऑटो चालकों की सुरक्षा सरकार का कर्तव्य है। विधानसभा परिसर में मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्धारित शर्तों को पूरा करने वाले किसी भी व्यक्ति को परमिट मिलेगा और जिन्हें परमिट मिल रहा है उनकी सुरक्षा सरकार का कर्तव्य है। इसबीच स्वयं को मराठी मामलों के रखवाले के रूप में पेश करने वाले शिवसेना ने किसी का नाम लिए बगैर ही मनसे पर चुटकी ली। विखरोली में मुंबई अग्निशमन ब्रिगेड के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम आग बुझाते हैं। (ibnlive)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE