नाबालिग लड़की से बलात्कार के आरोप में जोधपुर जेल में बंद हिन्दू धर्मगुरु आसाराम को  गुरुवार को जोधपुर के एससी-एसटी कोर्ट में पेशी पर लाया गया.

इस दौरान मीडियाकर्मियों ने उनसे सवाल किया कि आप संत हो या कथावाचक ? जिस पर आसाराम ने झल्लाते हुए कहा कि मैं तो गधों की श्रेणी में हूं. जब उनसे सवाल किया गया कि खुद को गधा कहना उचित है. तो उन्होंने कहा, मैं क्या जवाब दूं.

दरअसल हाल ही में अखाड़ा परिषद द्वारा फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किये जाने को लेकर आसाराम से सवाल किया गया था. अखाड़ा परिषद ने आसाराम को पाखंडी करार दिया है.

इस बारें में आसराम ने चुप्पी साधे रखी और कोई जवाब नही दिया था. उन्होंने कहा, मेरी तबीयत ठीक नहीं थी इसी वजह से कुछ नहीं बोला, आज ठीक हूं तो बोल रहा हूं.

गौरतलब रहें कि अखाड़ा परिषद ने फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की है. साथ ही इस लिस्ट को यूपी सरकार को सौंप कर कुम्भ में पंडाल ने देने की अपील की है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE