arun

एक लम्बी लड़ाई लड़ने के बाद अरुणाचल प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस के लिए फिर से संकट पैदा हो गया  हैं. कांग्रेस के 45 में से 44 विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया हैं.

मुख्यमंत्री पेमा खांडू सहित 43 विधायक पार्टी छोड़कर पीपुल्स पार्टी ऑफ़ अरुणाचल प्रदेश (पीपीए) में शामिल हो जाने की खबर हैं. मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने विधानसभा अध्यक्ष से मुलाक़ात के बाद पत्रकारों से कहा कि उन्होंने पीपीए में कांग्रेस का विलय करने की सूचना विधानसभा अध्यक्ष को दे दी है.

60 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस के 42, बीजेपी के 11 विधायक और 2 निर्दलीय विधायक हैं. इस बार बागियों में सीएम पेमा खांडू खुद शामिल हैं. कांग्रेस के साथ अब केवल एक विधायक नबाम तुकी बचे हैं.

अब राज्य में बीजेपी गठबंधन वाली सरकार होगी. दो महीने पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने दिवंगत मुख्यमंत्री कालिखो पुल की सरकार को बर्खास्त कर राज्य में फिर से कांग्रेस की सरकार को बहाल किया था. कालिखो पुल ने सरकार बर्खास्त होने के कुछ दिन बाद अगस्त में आत्महत्या कर ली थी.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें